कंप्यूटर क्या है हिंदी में - computer system kya hai - computer course

नमस्कार मित्रों,
इस पोस्ट में हम पढ़ेंगे कंप्यूटर क्या है हिंदी में - "कंप्यूटर क्या है हिंदी में - computer system kya hai - computer course" जिसमें हम निम्न टॉपिक कवर करेंगे कंप्यूटर क्या है, कंप्यूटर की जेनरेशन, कंप्यूटर के कार्य और कंप्यूटर का फूल फॉर्म आदि आज की हमारी पोस्ट बहुत ही important हैं अगर आप कंप्यूटर सीखना चाहते हैं तो क्योंकि कंप्यूटर सीखने के लिए आपको इसके बारे में जानना चाहिए कि आखिर कंप्यूटर कैसे काम करता है और कंप्यूटर क्यों सीखना चाहिए आदि, आज हम जो कंप्यूटर का उपयोग करते हैं वो बहुत ही modern और fast हैं लेकिन क्या आप जानते है कि कंप्यूटर बनने के बाद भी इसे और smart और powerful बनाने में कितनो का हाथ है इसलिए इस पोस्ट में हम इसकी generation भी देखेंगे मतलब कि पीढ़ियां कैसे कंप्यूटर का विकास हुआ।


कंप्यूटर क्या है हिंदी में, computer course

कंप्यूटर क्या है हिंदी में Computer System kya hai - Computer Course


List of Content

आयिए सबसे पहले हम जानेंगे कि कंप्यूटर क्या है

कंप्यूटर क्या है  what is Computer

कंप्यूटर एक इलेक्ट्रिक डिवाइस है जिसका उपयोग गणितीय गणनाएं (Mathematical Calculation)और किसी एक Particular Task को करने में किया जाता है कंप्यूटर शब्द अंग्रेजी भाषा के compute से लिया गया है जिसका अर्थ होता है 'गणना'
कंप्यूटर का आविष्कार mathematical calculation करने के लिए किया गया था

Computer full form कंप्यूटर का पूरा नाम और अर्थ

कंप्यूटर का पूरा नाम कंप्यूटर नहीं है बल्कि ये एक short form हैं यहां कंप्यूटर के हर एक word का अपना एक meaning है नीचे कंप्यूटर का फूल फॉर्म और उसके साथ उसका अर्थ भी दिया है

C -Commonly
O - Operated
M -Machine
P - Particularly
U - Used for
T - Technical
E - Educational
R - Research

अब आपको पता चल गया होगा कि क्यों इसका शॉर्ट नाम रखा गया क्योंकि बोलने में यह काफी बड़ा नाम हो जाता 
कंप्यूटर का पूरा नाम "Commonly operated machine particularly  used for technical and educational research"
जिसका अर्थ होता है "आम तौर पर संचालित ऐसी मशीन जो विशेष रूप से तकनीकी और शैक्षिक अनुसंधान के लिए उपयोग हो"


कंप्यूटर का आविष्कार Computer history

हमें यह पता होना चाहिए कि कंप्यूटर, जिसे हम सीख रहे हैं उसे किसने बनाया और कब बनाया आयिये उनके बारे में जानते हैं
कंप्यूटर का आविष्कार ब्रिटिश गणितज्ञ चार्ल्स बेबेज (Charles Babage) ने 1832 में बनाया था लेकिन पहले वो एनालॉग कंप्यूटर था फिर एनालॉग से मैकेनिकल कंप्यूटर का आविष्कार हुआ बीतते समय के साथ डिजिटल कंप्यूटर का आविष्कार हुआ जो मैकेनिकल कंप्यूटर की तुलना में काफी स्मार्ट और fast था


कंप्यूटर के उपयोग (Use of Computer)

आपने जाना कि कंप्यूटर किसने बनाया है अब जानते है कि यह हमारे किस काम आ सकता है या हम इसका उपयोग कैसे कर सकते हैं 

कंप्यूटर का उपयोग हम बड़ी से बड़ी और छोटी से छोटी गणितीय गणनाएं कर सकते है 
आज की तारीख में computer के बिना कुछ नहीं है इसका उपयोग हम किसी व्यापार की इंफॉर्मेशन मेनटेनेंस के लिए कर सकते हैं
इसका उपयोग लगभग सभी जगह होता है जैसे कॉलेज, स्कूल, सरकारी ऑफिस, अस्पताल आदि ।


कंप्यूटर के कार्य (Computer work)

इसमें हम बात करेंगे कि एक कंप्यूटर क्या क्या काम करने में सक्षम होता है

कंप्यूटर वो सारे गणितीय calculation बहुत ही कम समय में कर सकता है 

कंप्यूटर किसी भी प्रकार के Data को प्रोसेस कर सकता है

कंप्यूटर अपने आप में एक अलग ही दुनिया है यह किसी भी प्रकार के डाटा को analyze कर सकता है

यह हार्डवेयर को इंस्ट्रक्शन दे सकता है

यह सॉफ्टवेयर की मदद से किसी particular कार्य को कर सकता है


कम्प्यूटर कैसे काम करता है (Computer working process )

कंप्यूटर खुद से कोई काम नहीं करता है वह तब तक निष्क्रिय है जब तक उसे कोई instruction ना दिया जाए 
कंप्यूटर तीन चरणों में अपने कार्य को पूरा करता है 

  • कम्प्यूटर इनपुट डिवाइस की मदद से instruction लेता है फिर उसे process करता है जैसे हम keyboard की सहायता से कंप्यूटर को निर्देश देते है की वह ये काम करे 
  • फिर कंप्यूटर उस इंस्ट्रक्शन को फॉलो करता है जो instruction input device अथवा किसी सॉफ्टवेयर की मदद से दिया गया हो ,यह सॉफ्टवेयर के द्वारा दिए गए निर्देश को प्रोसेस करता है
  • कंप्यूटर की कार्य प्रणाली का आखरी चरण होता है कि को इंस्ट्रक्शन मिला है उसे प्रोसेस करने के बाद आउटपुट जेनरेट करना या उस पर्टिकुलर काम को पूरा करना यह हार्डवेयर से भी इंस्ट्रक्शन ले सकता है

computer system kya h, computer genration in hindi
First Generation

Computer की Generation

इस टॉपिक में हम जानेंगे कि कैसे कंप्यूटर का विकास कैसे हुआ किस generation में किस प्रकार का विकास हुआ पहले के कंप्यूटर में और आज के कंप्यूटर में काफी अंतर देखने को मिलता है जैसे जैसे समय बीतता गया आए दिन कंप्यूटर कि कार्य क्षमता में वृद्धि हुई, जानते है इसकी पीढ़ियों के बारे में
कंप्यूटर generation को पांच वर्गो में divide किया गया है

First Generation 

इस जेनरेशन में कंप्यूटर काफी बड़ा हुआ करता था और इसमें सर्किट बनाने के लिए वैक्यूम ट्यूब का इस्तेमाल किया जाता था  इसके पार्ट आकर में बहुत बड़े हुए करते थे, इसकी अवधि 1940 से लेकर 1956 तक थी

Second Generation

इसकि अवधि 1956 से 1963 तक थी इस जेनरेशन के कंप्यूटर में वैक्यूम ट्यूब की जगह ट्रांजिस्टर का उपयोग किया गया क्योंकि ट्रांजिस्टर आकर में छोटे और सस्ते थे इस समय high level language को उपयोग में लाया गया

Third Generation

इसका समय 1964 से 1971 तक था थर्ड जेनरेशन के कंप्यूटर के कार्य करने की क्षमता बढ़ गई थी क्योंकि इसमें इंटेग्रेटेड ट्रांजिस्टर का इस्तेमाल किया गया जिसमें ट्रांजिस्टर की साइज छोटी कि गई इस जेनरेशन में keyboard और माउस को विकसित किया गया

Fourth Generation

इस generation की अवधि 1971 से 1985 तक थी  इस जेनरेशन में सर्वप्रथम माइक्रोप्रोसेसर का उपयोग किया गया था इस जेनरेशन में सर्किट को एक ही सिलिकॉन ट्रांसिटर में लगाया गया जिससे कंप्यूटर का आकार छोटा हो गया और उसकी कार्य क्षमता बढ़ गई

Fifth Generation

यह जेनरेशन 1985 से आज तक चल रहा है इस जेनरेशन में कंप्यूटर का विकास तेजी से हुआ इसमें कंप्यूटर स्मार्ट और फास्ट हो चुके थे इस generation में आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस का भी उदय हुआ जिससे कंप्यूटर स्वयं कार्य करने में सक्षम हो गए लैपटॉप इसी जेनरेशन में आया।


computer genration in hindi, computer system kya h
Super Computer


कंप्यूटर के प्रकार types of Computer in Hindi

अब बात करेंगे की कंप्यूटर कितने प्रकार के होते हैं जैसे जैसे समय बीतता गया कंप्यूटर के उपयोगिता भी बढ़ती गई

माइक्रो कंप्यूटर (Micro Computer)

जैसा कि नाम से पता चल रहा है कि इसमें कंप्यूटर का आकार छोटा होता है इसमें माइक्रो प्रोसेसर का इस्तेमाल किया गया है यह एजुकेशन purpose, पर्सनल कंप्यूटर, एंटरटेनमेंट पर्पज के लिए विकसित किया गया यह छोटे आकार  के साथ हल्का भी है , लैपटॉप, पर्सनल कंप्यूटर आदि माइक्रो कंप्यूटर के उदाहरण है

सुपर कंप्यूटर (Super computer)

यह अत्यंत फास्ट और पावरफुल कंप्यूटर है इसी लिए इसे सुपर कंप्यूटर कहा जाता हैं यह महंगे और साइज में काफी बड़े होते है इसका इस्तेमाल मौसम भविष्वाणि में किया जाता है

मैन फ्रेम कंप्यूटर (Main frame)

Main frame computer mini computer से कुछ कदम आगे है अर्थात यह मिनी कंप्यूटर कि तुलना में अधिक फास्ट होते है इसका इस्तेमाल बड़ी मात्रा में डाटा का प्रसारण करने में किया जाता हैं

मिनी कंप्यूटर (Mini Computer )

यह कंप्यूटर माइक्रो कंप्यूटर से अधिक फास्ट होते है यह कंप्यूटर सिंगल यूजर के लिए बनाया गया था


Conclusion -Computer System

आज का युग कंप्यूटर का युग है कंप्यूटर हमारी दैनिक दिनचर्या का अभिन्न अंग बन गया है और कई क्षेत्रों में इसका इस्तेमाल किया जा रहा है इसलिए इसे सीखना बहुत महत्वपूर्ण हो गया है हम तो आपसे यही कहेंगे कि आपको कंप्यूटर अवश्य सीखना चाहिए आपको हमारी यह पोस्ट कैसी लगी हमें कॉमेंट में बताए और इस टॉपिक से जुड़ा कोई सवाल है तो नीचे कमेंट में बताए अगर आप हमारे द्वारा दिया बेसिक कंप्यूटर कोर्स इन हिंदी करना चाहते है तो यहां क्लिक करके ट्यूटोरियल देख एवं सीख सकते है

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ